print

शिक्षा-अनुसूचित जनजाति छात्रों के लिए पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति (पीएमएस)

        इस योजना में व्यावसायिक, गैर-व्यवसायिक, तकनीकी, गैर-तकनीकी पाठ्यक्रमों के साथ ही दूरस्थ एंव सतत शिक्षा पत्राचार पाठयक्रम भी शामिल है, इस योजना की शुरूआत 1944-45 के दौरान हुई और इसे समय-समय पर संशोधित किया गया। इस योजना का आखिरी संशोधन 01-07-2010 को हुआ था। 

 
प्रमुख विशेषताएं:
 
  • केंद्र प्रायोजित योजना जिसका क्रियान्वयन राज्य सरकार एंव संघ राज्य क्षेत्र प्रशासन करते है।
  • भारत सरकार द्वारा राज्य सरकारों/संघ राज्य क्षेत्र प्रशासन की अधिक एंव उपरोक्त प्रतिबद्ध देयता पर 100% केन्द्रीय सहायता।  
  • पोस्ट-मेट्रिकुलेशन या पोस्ट-सेकन्डेरी पाठ्यक्रम में पढ़ने वाले अनुसूचित जनजाति के छात्रों को यह योजना वित्तीय सहायता प्रदान कराती है।
  • केवल भारत में अध्ययन के लिए ही यह छात्रवृत्ति उपलब्ध है। 
  • संबंधित राज्य सरकार एंव संघ राज्य क्षेत्र से ही छात्र को छात्रवृत्ति पुरस्कृत की जाएगी।  
  • बुक बैंक स्थापित करने के लिए यह योजना राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों की केंद्रीय सहायता को भी शामिल करती है। 
 
योग्यता:
 
  • यह छात्रवृत्ति उन छात्रों को प्रदान की जाएगी जिनके माता-पिता/संरक्षकों की सभी स्रोतों से वार्षिक आय 2 लाख से ज्यादा न हो। 
  • एक ही माता-पिता के एक से अधिक बच्चे इस छात्रवृत्ति के लिए मान्य है। 
  • मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से मैट्रिक परीक्षा या उच्च माध्यमिक या किसी भी उच्च परीक्षा में पास अनुसूचित जनजाति छात्र इस योजना के लिए योग्य है।
  • मान्यता प्राप्त संस्थानों में सभी पोस्ट-माध्यमिक पाठ्यक्रम या पोस्ट मैट्रिक परीक्षा के अध्ययन हेतु छात्रवृत्ति उपलब्ध है केवल विमान रखरखाव इंजीनियर पाठ्यक्रम एंव प्राइवेट पायलट लाइसेंस पाठ्यक्रम को छोड़कर। 
  • पत्राचार पाठ्यक्रम के माध्यम से पढ़ रहे छात्र भी योग्य है। 
  • पूर्णकालिक पाठ्यक्रम की पूरी अवधि के लिए कार्यरत छात्र जो कि बिना वेतन छुट्टी पर हो वे भी पाठ्यक्रम हेतु योग्य है। 
  • इस योजना के तहत छात्रवृत्ति धारक किसी और अन्य छात्रवृत्ति/वजीफे के लिए मान्य नहीं होगा।
  • कोई छात्र यदि पूर्व-परीक्षा में किसी भी प्रशिक्षण केंद्र से सरकार द्वारा मुहया वित्तिय सहायता के साथ प्रशिक्षण ले लेता है ऐसे में वह छात्र पात्र नहीं होगा।   
 
लाभ:
 
  • छात्र को दिया जाएगा:-
           (क) संस्थान या विश्वविद्यालय/बोर्ड को स्कॉलर (छात्र) द्वारा अनिवार्य रूप देय फीस जैसे नामांकन/पंजीकरण, ट्यूशन, खेल, यूनियन,         पुस्तकालय, पत्रिका, मेडिकल परीक्षा एंव ऐसी ही अन्य फीस। 
  • अध्ययन यात्रा हेतु अधिकतम शुल्क 1600/- रु. तक प्रति वर्ष। 
  • टाइपिंग एंव मुद्रण थीसिस पर शोध छात्रों हेतु 1600/-रु. का अधिकतम शुल्क। 
  • अक्षमता की विभिन्न डिग्री हेतु अक्षम अनुसूचित जनजाति छात्रों के लिए निर्धारित दरों पर अतिरिक्त वृति। 
  • पत्राचार पाठ्यक्रम छात्रों के पाठ्यक्रम की अदायगी या प्रतिपूर्ति के अलावा, अनिवार्य/निर्धारित पुस्तकें हेतु 1200/- रु. की वार्षिक वृत्ति।
  • रखरखाव भत्ता नीचे दिया गया है:-

 

 

समूह

अनुरक्षण वृति की दर (प्रति माह रु. में)

समूह

पाठ्यक्रम

छात्रावासी

दिवाछात्र

समूह-I

 

(i) मेडिसन (एलोपैथिक, भारतीय एंव अन्य मान्यता-प्राप्त  मेडिसन प्रणाली) इंजीनीयरिंग, तकनीकी, नियोजन, वास्तुशिल्प, डिजाइन, फैशन टेक्नॉलॉजी, कृषि, पशु चिकित्सा एवं संबद्ध विज्ञान, प्रबंधनव्यावसायिक/प्रशासन, कम्प्यूटर विज्ञान/एप्लीकेशन आदि में एम.फिल., पीएच.डी एंव पोस्ट डॉक्टरल शोध सहित डिर्गी एंव पोस्ट स्नातक स्तर तक के पाठ्यक्रम।    

(ii) कॉमर्शियल पायलट लाइसेंस पाठ्यक्रम ( हेलिकॉप्टर पायलट तथा मल्टी इंजन रेटिंग सहित)

(iii) प्रबंधन एंव मेडिसन की विभिन्न शाखाओं में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा पाठ्यक्रम

(iv) सी../आई.सी.डब्ल्यू../सी.एस./आई.सी.एफ.. आदि.

(v) एम.फिल., पीएच.डी. एंव पोस्ट डॉक्टरल शोध (डी. लिट., डी.विज्ञान आदि.) –

a) समूह II में मौजूदा पाठ्यक्रम

b)  समूह III में मौजूदा पाठ्यक्रम

(vi) एल.एल.एम.

1200

550

समूह- II

 

(i) डिग्री, डिप्लोमा, प्रमाणपत्र हेतु अग्रणी स्नातक/पोस्ट स्नातक पाठ्यक्रम जिनमें प्रवेश लिए कम से कम (10+2) बारहवीं की योग्यता चाहिए जैसे फार्मेसी (बी फार्मा), नर्सिंग(बी फार्मा), एलएलबी, बीएफएस, अन्य पैरा मेडिकल की शाखाओं जैसे रीहबिलटैशन, डाइअग्नास्टिक्स आदि, जनसंचार, होटल प्रबंधन एंव केटरींग, ट्रैवल/पर्यटन/आतिथ्य प्रबंधन,इंटीरियर डेकोरेटर, नूट्रिशन एंव डाइअटेटिक्स, वाणिज्यिक कला, वित्तिय सेवा (बैंकिंग, बीमा, कर-निर्धारण आदि)

 (ii)  पोस्ट स्नातक पाठ्यक्रम समूह-I में शामिल नहीं है जैसे-एम.ए./एम.एससी./एम.कॉम./एम.एड./एम.फार्मा. आदि.  

820

530

समूह- III

स्नातक डिग्री के सभी अग्रणी पाठ्यक्रम समूह I एंव II में शामिल नहीं है जैसे- बीए/बी.एससी/बी.कॉम आदि.

570

300

समूह- IV

 

सभी पोस्ट-मैट्रिक परीक्षा स्तर के नॉन-डिग्री पाठ्यक्रम जिनमें प्रवेश के लिए योग्यता हाई स्कूल(कक्षा X) है। जैसे-उच्च माध्यमिक प्रमाणपत्र(कक्षा XI एंव XII); सामान्य एंव वोकेशनल स्ट्रीम दोनों, आईटीआई स्ट्रीम, पॉलिटेक्निक में 3 वर्षीय डिप्लोमा पाठ्यक्रम आदि.

380

230

 

  • निर्धारित दरों पर ही राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों को बुक बैंक हेतु केंद्रीय सहायता प्रदान की गई है। डिग्री कोर्स हेतु दो छात्रों के लिए अधिकतम सीमा 7500/- रु की तथा पोस्ट-ग्रैजुएशन पाठ्यक्रम हेतु प्रति छात्र 5000/- रु की अधिकतम सीमा है।  
 

योजना की प्रगति: 

इस योजना के तहत, 11 वीं पंचवर्षीय योजना (2007-08 से 2011-12) के दौरान, 68.43 लाख छात्रों को कवर करने के लिए 2118.44 करोड़ रु. जारी किए गए। 2012-13 वित्तिय वर्ष के दौरान, बीई  748.50 करोड़ं रु है इसके अतिरिक्त अभी तक 15 लाख छात्रों को कवर करने के लिए 483.43 जारी किए जा चुके है। 
 
 

 


ऊपर

वापस जाएँ